उत्तराखंड सामान्य ज्ञान नोट्स इन हिंदी

0 170

उत्तराखंड का सामान्य ज्ञान Part-9

उत्तराखंड का सामान्य ज्ञान Pdf-9  – अगर आप किसी भी परीक्षा की तैयारी करते हैं तो उसके लिए आपको पढ़ने के लिए अच्छा स्टडी मैटेरियल होना बहुत ही जरूरी है. अगर आप के पास पढ़ने के लिए अच्छी सामग्री नहीं है तो आप किसी भी परीक्षा की तैयारी ज्यादा अच्छे से नहीं कर पाएंगे. तो इसीलिए जो उम्मीदवार उत्तराखंड जैसी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है उसके लिए इस पोस्ट में हमने सामान्य ज्ञान से संबंधित काफी महत्वपूर्ण प्रशन और उत्तर दिए है जो कि पहले उत्तराखंड की परीक्षाओं में पूछे जा चुके है. तो अपनी तैयारी को बेहतर बनाने के लिए इन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें

उत्तराखंड के प्रमुख खिलाड़ी

  1. खीमानन्द बेलवाल – मुक्केबाजी
  2. हरिश तिवारी – एथलीट
  3. जगजीत सिंह – भारोत्तोलन
  4. सुषमा राणा – निशानेबाजी
  5. हंसा मनराल – भारोत्तोलन
  6. वीर बहादुर गुरंग – फुटबॉल
  7. हरिसिंह थापा – मुक्केबाजी
  8. सुरेन्द्र सिंह भंडारी – एथलीट
  9. के. सी. सिंह बाबा – भारोत्तोलन
  10. पंकज डिमरी – एथलीट
  11. फैय्याज अहमद अंसारी – भारोत्तोलन
  12. भूपाल सिंह नेगी – हॉकी
  13. आर. एस. रावत – हॉकी
  14. अशोक कुमार शाही – निशानेबाजी
  15. सैयद अली – हॉकी
  16. हिमाद्री थपलियाल – निशानेबाजी
  17. सुरेन्द्र भंडारी – टाईक्वान्डो
  18. परिमार्जन नेगी – शतरंज
  19. पुष्कर सिंह – फुटबॉल
  20. हयात सिंह खेतवाल – जूडो
  21. हरिदत्त काफडी – बास्केट बॉल
  22. बालेश्वर नाथ पाण्डेय – जूडो
  23. परम बहादुर मल्ल – मुक्केबाजी
  24. सुभाष राणा – निशानेबाजी
  25. त्रिलोक सिंह बसेड़ा – फुटबॉल
  26. धरम चन्द – मुक्केबाजी
  27. सुरेश चन्द्र पाण्डेय – एथलीट
  28. ललित शाह – हॉकी
  29. स्नेह राणा – क्रिकेट
  30. हरिश भाकुनी – हॉकी
  31. गीता मनराल – एथलीट
  32. हरदयाल सिंह – हॉकी
  33. जसपाल राणा – निशानेबाजी
  34. रामबहादुर क्षेत्री – फुटबॉल
  35. नरेन्द्र सिंह बिष्ट – मुक्केबाजी
  36. उन्मुक्त चन्द – क्रिकेट
  37. दिलीप कुमार पौरी – मुक्केबाजी
  38. मनीष सनवाल – टाईक्वान्डो
  39. एकता बिष्ट – क्रिकेट
  40. शबाली बानू – टेबल टेनिस
  41. किशन सिंह बिष्ट – मुक्केबाजी
  42. राजेंद्र कुमार पुनेड़ा – मुक्केबाजी
  43. संजय जोशी – जूडो
  44. रमेश सिंह रावत – फुटबॉल
  45. अरुण जखमोला – बालीबाल
  46. मधुमिता बिष्ट – बैटमिन्टन
  47. प्रताप सिंह पटवाल – फुटबॉल
  48. संतोष सिंह – मुक्केबाजी
  49. कमला रावत – जूडो
  50. प्रवीण रावत – निशानेबाजी
  51. तारा रावत – क्रिकेट
  52. पुष्पा सिंह – एथलीट
  53. अभिनव बिंद्रा – निशानेबाजी
  54. रमेश सिंह नेगी – मुक्केबाजी

उत्तराखंड के प्रमुख पर्वतारोही

  1. सुमन कुटियाल
  2. चंद्रप्रभा ऐतवाल
  3. लावराज सिंह धर्मसत्तु
  4. हर्ष मणी नौटियाल
  5. चंद्रशेखर पाण्डेय
  6. हुकुम सिंह रावत
  7. बछेंद्री पाल
  8. हरिश चन्द्र सिंह रावत
  9. रतन सिंह चौहान
  10. हर्षवंती बिष्ट

उत्तराखंड के प्रमुख रेजीमेन्ट, सैन्य छावनियां एवं प्रमुख सैन्यकर्मी

कुमाऊं रेजीमेन्ट (Kumaun Regiment)

  • कुमांऊँ रेजीमेंट भारतीय सशस्त्र सेना का एक सैन्य-दल है,|
  • कुमांऊँ रेजीमेंट की स्थापना सन् 1788 में हैदराबाद में हुयी थी, तथा इसे कुमाऊं रेजीमेन्ट का नाम 27 अक्टूबर 1945 को दिया गया और मई 1948 में इसका मुख्यालय आगरा से रानीखेत स्थान्तरित किया गया
  • कुमाऊं  रैजीमेंट ने मराठा युद्ध (1803), पिन्डारी युद्ध (1817), भीलों के विरुद्ध युद्ध (1841), अरब युद्ध (1853), रोहिल्ला युद्ध (1854) तथा भारत का पहला स्वतंत्रता संग्राम, झॉंसी (1857) इत्यादि युद्धों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
  • कुमाऊं रेजीमेन्ट की 13वी व 15वी बटालियन को भारतीय सेना में वीरो का वीर कहा जाता है
  • 1988 में कुमाऊं रेजीमेन्ट पर डांक टिकट जारी किया गया

गढ़वाल रेजीमेन्ट (Garhwal Regiment)

  • गढ़वाल रेजीमेन्ट का गठन 5 मई 1887 को गोरखा रेजीमेन्ट की दूसरी बटालियन से किया गया , इस रेजीमेन्ट द्वारा 1987 में लेंसडाउन में छावनी बनायीं गयी

प्रमुख सैन्य छावनियां व उनके स्थापन वर्ष

  • अल्मोड़ा छावनी – 1815
  • रानीखेत छावनी – 1871
  • लेंसडाउन छावनी – 5 मई 1887
  • देहरादून छावनी – 30 नवम्बर 1814
  • चकराता छावनी – 1866
  • नैनीताल छावनी – 1841
  • रूड़की छावनी – 1853

उत्तराखंड के प्रमुख सैन्यकर्मी

माधो सिंह भंडारी

  • माधो सिंह भंडारी गढ़वाल के रजा महीपति शाह के सेनापति  थे
  • इन्हें गर्व भंजक के नाम से जाना जाता है

वीरचन्द्र सिंह गढ़वाली

  • वीरचन्द्र सिंह गढ़वाली का जन्म 24 दिसम्बर 1891 को पौड़ी गढ़वाल के मासों गाँव में हुआ था ये गढ़वाल रायफल्स में थे
  • 23 अप्रैल 1930 को घटित पेशावर कांड के नायक वीरचन्द्र सिंह गढ़वाली ही थे

दरबान सिंह नेगी

  • दरबान सिंह नेगी गढ़वाल राइफल्स में थे इन्हें प्रथम विश्व युद्ध में वीरता का प्रदशन करने के लिए 1914 मेंविक्टोरिया क्रॉस से सम्मानित किया गया

गबर सिंह नेगी

  • गबरसिंह नेगी गढ़वाल राइफल्स में थे इन्हें प्रथम विश्व युद्ध में वीरता का प्रदशन करने के लिए 1915 मेंविक्टोरिया क्रॉस से सम्मानित किया गया

मेजर सोमनाथ शर्मा

  • मेजर सोमनाथ शर्मा कुमाऊं रेजीमेन्ट में थे इन्हें 1947 में मरणोपरांत परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया

मेजर शैतान सिंह

  • इन्हें 1662 के भारत चीन युद्ध में वीरता का प्रदशन करने के कारण मरणोपरांत परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया

उत्तराखंड का परिवहन तंत्र (Uttarakhand: Transportation System)

सड़क परिवहन

  • उत्तराखंड में कुल यातायात में सड़क यातायात का भाग 85 % से अधिक है , कुल सड़क परिवहन में से 80 प्रतिशत निजी वाहन है
  • राज्य सड़क परिवहन के अधिकांश भाग पर गढ़वाल मोटर ऑनर्स यूनियन लिमिटेड, गढ़वाल मोटर यूजर्स को-ऑपरेटिव ट्रांसपोर्ट सोसायटी लिमिटेड, टिहरी गढ़वाल मोटर ओनर्स यूनियन लिमिटेड, कुमाऊ मोटर ओनर्स यूनियन लिमिटेड तथा सीमान्त सहकारी संघ  आदि निजी कंपनियों  का विस्तार है।
  • गढ़वाल मोटर आनर्स यूनियन लिमिटेड की स्थापना 1941 में कोटद्वार (पौड़ी)  में हुई थी। इसका एक कार्यालय  ऋषिकेश  में भी है।
  • कुमाऊं मोटर ऑनर्स यूनियन लिमिटेड की स्थापना सन् 1939 में काठगोदाम  में हुई थी। इसका कार्यालय रामनगर तथा टनकपुर  में है।

रेल परिवहन

  • उत्तराखंड में 6 जिलो (हरिद्वार, देहरादून, पौड़ी, उधमसिंह नगर , नैनीताल और चम्पावत ) में रेल परिवहन की सुविधा उपलब्ध है
  • सर्वाधिक रेल ट्रैक वाला जिला हरिद्वार है
  • राज्य की पहली रेल लाइन काठगोदाम से किच्चा है जो 1884 से सेवारत है

हवाई सेवा

राज्य के प्रमुख हवाई अड्डे निम्नलिखित है

  • दून (जौली ग्रान्ट ) हवाई अड्डा – देहरादून
  • पंतनगर (फूलबाग) – उधम सिंह नगर
  • नैनी सैनी – पिथोरागढ़
  • गौचर – चमोली
  • चिन्यलिसैण – उत्तरकाशी

उत्तराखंड की प्रमुख योजना

जननी सुरक्षा योजना

  • राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ मिशन के अंतर्गत चलने वाली इस योजना का उद्देश्य महिलाओ को सरकारी अस्पतालों में सुरक्षित प्रसव की सुविधा उपलब्ध करना है

वन्देमातरम योजना

  • 9 फरवरी 2004 से शुरू इस योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओ को निशुल्क उपचार उपलब्ध करना है

किशोरी शक्ति योजना

  • यह योजना 2001 में शुरू की गयी जिसका उद्देश्य 11 से 18 वर्ष की बालिकाओ के सर्वांगीण विकास में योगदान देना है

स्वशक्ति योजना

  • स्वशक्ति योजना की शुरुआत जनवरी 2002 में की गयी यह योजना महिलाओ से सम्बंधित है

इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मातृत्व सहयोग योजना

  • महिलाओं से सम्बंधित इस योजना की शुरुआत राज्य में 19 नवम्बर 2010 को की गयी

सबला योजना

  • यह योजन 11 से 18 वर्ष की बकिकाओ से सम्बंधित है

मोनाल परियोजना

  • मोनाल परियोजना 11 से 18 की किशोरियों के जीवन कौशल निर्माण के उद्देश्य से शुरू की गयी

आपातकालीन सेवा योजना 108

  • यह योजना 15 मई 2008 को शुरू की गयी

रहबर योजना

  • इस योजना के तहत गरीब महिलाओ जिनकी आयु 18 से 35 वर्ष है को स्वरोजगार का प्रशिक्षण दिया जाता है

आरोही परियोजना

  • यह योजना अध्यापको तथा विद्यार्थियों को कंप्यूटर का प्रशिक्षण देने के लिए 2002 में शुरू की गयी

104 निशुल्क परामर्शी योजना

  • 104 निशुल्क परामर्शी योजना के तहत 104 नंबर पर कॉल करके निशुल्क चिकित्सा परामर्श प्राप्त किया जा सकता है

उत्तराखंड : जनगणना 2011 (Uttarakhand: Census 2011)

कुल जनसँख्या

  1. राज्य की कुल जनसँख्या – 1,00,86,292
  2. सबसे कम जनसँख्या वाला जिला – रुद्रप्रयाग (42,285)
  3. देश की जनसँख्या में प्रतिशत – 1.69 %
  4. कुल महिलाओ की संख्या – 49,48,519  (49.07%)
  5. सर्वाधिक जनसँख्या वाला जिला – हरिद्वार (18,90,422)
  6. कुल पुरुषो की संख्या – 51,37,773  (50.93%)

दशकीय वृद्धि दर

  1. सबसे कम दशकीय वृद्धि दर वाला जिला- पौड़ी
  2. दशकीय वृद्धि दर में उत्तराखंड का स्थान – 17 वां
  3. सर्वाधिक दशकीय वृद्धि दर वाला जिला – उधम सिंह नगर
  4. 2001 – 2011 के दौरान राज्य में दशकीय वृद्धि दर – 18.80 %

जनसँख्या घनत्व

  1. सर्वाधिक जनसँख्या घनत्व वाला जिला – हरिद्वार (801)
  2. राज्य का कुल जनसँख्या घनत्व – 189
  3. सबसे कम जनसँख्या घनत्व वाला जिला – उत्तरकाशी (41)

लिंगानुपात

  1. राज्य का कुल लिंगानुपात –  963
  2. सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला –  अल्मोड़ा (1139)
  3. सबसे कम लिंगानुपात वाला जिला – हरिद्वार (880)

साक्षरता

  1. कुल पुरुष साक्षरता – 87.40%
  2. सर्वाधिक पुरुष  साक्षरता वाला जिला –  रुद्रप्रयाग
  3. कुल महिला साक्षरता –70%
  4. सर्वाधिक साक्षरता वाला जिला –  देहरादून
  5. सबसे कम पुरुष साक्षरता वाला जिला – हरिद्वार
  6. सर्वाधिक महिला  साक्षरता वाला जिला –  देहरादून
  7. राज्य की  कुल साक्षरता –  78.82%
  8. सबसे कम साक्षरता वाला जिला – उधमसिंह नगर
  9. पुरुष साक्षरता की दृष्टि से राज्य का भारत में स्थान – 13 वां
  10. सबसे कम महिला साक्षरता वाला जिला – उत्तरकाशी
  11. महिला  साक्षरता की दृष्टि से राज्य का भारत में स्थान – 20 वां
  12. औसत साक्षरता की दृष्टि से राज्य का भारत में स्थान – 17 वां

हमने इस पोस्ट में उत्तराखंड परिवहन निगम ऑनलाइन बुकिंग उत्तराखंड परिवहन विभाग उत्तराखंड परिवहन निगम dehradun, uttarakhand उत्तराखंड सामान्य ज्ञान क्विज उत्तराखंड सामान्य ज्ञान 2018 उत्तराखंड सामान्य ज्ञान इन हिंदी उत्तराखंड परिवहन निगम परिचालक भर्ती उत्तराखंड उत्तराखंड की जनसंख्या 2011 उत्तराखंड की साक्षरता उत्तराखंड की जनसंख्या 2018 से संबंधित  जानकारी दी हैऔर आगे आने वाली परीक्षाओं में भी इनमें से काफी प्रश्न पूछे जा सकते हैं. तो इन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें. अगर इनके बारे में आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके पूछो और अगर आपको यह  जानकारी  फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें.

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.