Haryana HSSC Clerk Hindi Previous Year Question Papers

0 616

Haryana HSSC Clerk Hindi Previous Year Question Papers

HSSC Clerk की तैयारी करने वाले सभी उम्मीदवारों को इस परीक्षा से संबंधित काफी महत्वपूर्ण स्टडी मैटेरियल चाहिए होता है ताकि वह इस परीक्षा की तैयारी सबसे अच्छी कर सके तो जो उम्मीदवार HSSC Clerk की तैयारी कर रहा है उसके लिए हमारी इस पोस्ट में HSSC Clerk परीक्षा में पूछे गए कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न और उनके उत्तर दिए गए हैं जिन्हें आप ध्यानपूर्वक पढ़ें यह प्रशन पहले भी HSSC Clerk की काफी परीक्षा में पूछे जा चुके हैं और आगे आने वाली परीक्षा में पूछे जा सकते हैं.

Haryana Clerk Hindi Previous Year Question Papers

निर्देश : निम्नलिखित अवतरण को पढ़कर सम्बद्ध वैकल्पिक उत्तरों में से सही उत्तर का चयन कर उसे चिन्हित करें।
हम सब लोग एक भीड़ से गुजर रहें हैं। जो सवेरे घर से निकलकर दफतर और वापस घर जाकर दिन सार्थक करते हैं, उन्हें भीड़ से सिर्फ बस में साक्षात्कार होता है। जो मोटर से चलते हैं, उनके लिए भीड़ एक अवरोध है जिसे वे लोग सशक्त और फुर्तीली सवारी गाड़ी से पार कर जाते हैं। जो पैदल चलते हैं वे खुद भीड़ हैं। लेकिन ये तीनों वास्तव में न तो भीड़ से कुछ समय के लिए निपटकर बाकी समय मुक्त है न अलग-अलग रास्तों के कारण भीड़ के अंदर कम या जयादा फँसे हुए हैं। ये सब बिलकुल एक ही तरह से और हर समय पूरी तौर से भीड़ में फँस चुके हैं सिर्फ इतना है की ये जानते नहीं, और यह तो बिलुल नहीं जानते की जिसके पास सस्ता है, वह राज्य की हो या संगठित उद्योग की, वह भीड़ का इस्तेमाल भीड़ में फँसे प्रत्येक व्यक्ति के विरुद्ध करता है। जान भी लें तो सिर्फ इतना जानते हैं कि हम संसार के नहीं रह गए हैं और हमारे चारो तरफ जीवन नहीं बल्कि भीड़ है जो अपनी शक्ल भीड़ के पड़े पर्दे पर नहीं देख सकते। अगर किसी को यह शक्ल दिखाई देने लगे, तो उसे मालूम होता है कि वह अब जिस भीड़ को पहचानता है वह अभी तक उसके विरुद्ध इस्तेमाल की जाती रही है। अपनी शक्ल का यह परिचय कवि के लिए, जो एक भीड़ से अन्य सामान्य जनों की अपेक्षा अधिक गहरा भाषायी सम्बन्ध रखता है, एक मुक्त कर देने वाला अनुभव बन जाता है। उसका विपर्यय भी सही है कि जब तक उसे अपनी शक्ल नहीं दिखाई देती है, वह फँसा रहता है।

1. भीड़ से मुक्त का उपाय है ?

2. भीड़ का इस्तेमाल किसके विरुद्ध किया जाता है ?

3. भीड़ किसके लिए रूकावट है ?

4. भीड़ का इस्तेमाल कौन करता है ?

निर्देश : नीचे दिए गद्यांश को पढ़कर उनपर आधारित 4 प्रश्नों के उत्तर दीजिए।
भूषण महाराज ने विषय और विशेषतया नामक चुनने में बड़ी बुद्धिमता से काम लिया है। शिवजी और छत्रसाल से महानुभावों पवित्र चरित्र का वर्णन करने वाले की जितनी प्रशंसा की जाए, थोड़ी है। शिवजी ने एक जिम्मेदार और बीजपुराधीश के नौकर के पुत्र होकर चक्रवर्ती राज्य स्थापित करने की इच्छा को पूर्ण-सा कर दिखाया और छत्रसाल बुन्देला ने जिस समय मुगलों का सामना करने का साहस किया, उस समय उसके पास केवल पांच सवार और पच्चीस पैदल थे। इसी सेना से इस महानुभाव ने दिल्ली करने की हिम्मत की और मरते समय अपने उत्तराधिकारियों के लिए दो करोड़ वार्षिक मुनाफे का स्वतंत्र राज्य छोड़ा।
5. Q- महाकवि भूषण दरबारी कवि थे, उनके आश्रयदाता राजा का नाम था ?

6. Q- छत्रपति शिवजी की प्रशस्ति में लिखे गए दो काव्य ग्रंथों के नाम हैं ?

7. Q- इस गद्यांश का सार्थक शीर्षक हो सकता है ?

8. Q- छत्रसाल बुन्देला ने जिस समय मुगलों सामना किया, उस समय उनके पास थे ?

निर्देश : प्रस्तुत गद्यांश को पढ़िए और उचित विकल्पों का चयन करके निच दिए गये 4 प्रश्नों के उत्तर दीजिए।
गांधीजी ने दक्षिण अफ्रीका में प्रवासी भारतीयों को मानव-मात्र की समानता और स्वतंत्रता के प्रति जागरुक बनाने का प्रयत्न किया। इसी के साथ उन्होंने भारतीयों के नैतिक पक्ष को जगाने और सुसंस्कृत बनाने के प्रयत्न भी किए। गांधी जी ने ऐसा क्यों किया? इसलिए कि वे मानव-मानव के बीच काले-गोरे, या ऊँच-नीच का भेद ही मिटाना पर्याप्त नहीं समझते थे, वरन उनके बीच एक मानवीय स्वभाविक स्नेह और हार्दिक सहयोग का संबंध भी स्थापित करना चाहते थे। इसके बाद जब वे भारत आए, तब उन्होंने इस प्रयोग को एक बड़ा और व्यापक रुप दिया विदेशी शासन के अन्याय-अनीति के विरोध में उन्होंने जितना बड़ा सामूहिक प्रतिरोध संगठित किया, उसकी मिसाल संसार के इतिहास में अन्यत्र नहीं मिलती। पर इसमें उन्होंने सबसे बड़ा ध्यान इस बात का रखा कि इस प्रतिरोध में कहीं भी कटुता, प्रतिशोध की भावना अथवा कोई भी ऐसी अनैतिक बात न हो जिसके लिए विश्व-मंच पर भारत का माथा नीचा हो। ऐसा गांधी जी ने इसलिए किया क्योंकि वे मानते थे कि बंधुत्व, मैत्री, सदभावना , स्नेह-सौहार्द आदि गुण मानवता रूप टहनी के ऐसे पुष्प हैं जो सर्वदा सुगंधित रहते हैं।
9. अफ्रीका में प्रवासी भारतीयों के पीड़ित होने का क्या कारण था?

10. गांधी जी अफ्रीकावासियों और भारतीय प्रवासियों के मध्य क्या स्थापित करना चाहते थे?

11. भारत में गांधीजी का विदेशी शासन का प्रतिरोध किस पर आधारित था?

12. गद्यांश का उपयुक्त शीर्षक क्या होगा?

निर्देश : निम्नलिखित अवतरण पर आधारित पाँच प्रश्न दिए गए हैं। अवतरण को ध्यान से पढ़िए तथा प्रत्येक प्रश्न के उत्तर के लिए दिए गए चार विकल्पों में से उचित विकल्प का चयन कीजिए तथा निर्देशानुसार चिन्ह लगाइए। राष्ट्र के सर्वांगीण विकास के लिए चरित्र निर्माण परम आवश्यक है। जिस प्रकार वर्तमान में भौतिक निर्माण का कार्य अनेक योजनाओं के माध्यम से तीव्र गति के साथ सम्पन्न हो रहा है, वैसे ही वर्तमान की सबसे बड़ी आवश्यकता यह है कि देशवासियों के चरित्र निर्माण के लिए भी प्रयत्न किया जाए। उत्तम चरित्रवान व्यक्ति ही राष्ट्र की सर्वोच्च सम्पदा है। जनतन्त्र के लिए तो यह एक महान कल्याणकारी योजना है। जन-समाज में राष्ट्र, संस्कृति, समाज एवं परिवार के प्रति हमारा क्या कर्त्तव्य है, इसका पूर्ण रूप से बोध कराना एवं राष्ट्र में व्याप्त समग्र भ्रष्टाचार के प्रति निषेधात्मक वातावरण का निर्माण करना ही चरित्र निर्माण का प्रथम सोपान है। पाश्चात्य शिक्षा और संस्कृति के प्रभाव से आज हमारे मस्तिष्क में भारतीयता के प्रति ‘हीन भावना’ उत्पन्न हो गई है। चरित्र निर्माण, जो कि बाल्यावस्था से ही ऋषिकुल, गुरुकुल, आचार्यकुल की शिक्षा के द्वारा प्राचीन समय से किया जाता था, आज की लॉर्ड मैकाले की शिक्षा पध्दति से संचालित स्कूलों एवं कॉलेजों के लिए एक हास्यास्पद विषय बन गया है। आज यदि कोई पुरातन संस्कारी विद्यार्थी संध्यावंदन या शिखा-सूत्र रखकर भारतीय संस्कृतिमय जीवन बिताता है तो अन्य छात्र उसे ‘बुध्दू’ या अप्रगतिशील कहकर उसका मजाक उड़ाते हैं। आज हम अपने भारतीय आदेशों का परित्याग करके पश्चिम के अंधानुकरण को ही प्रगति मान बैठे हैं। इसका घातक परिणाम चारित्र्य – दोष के रूप में आज देश में सर्वत्र दृष्टिगोचर हो रहा है।
13. Q. चरित्र निर्माण की परम आवश्यकता है

14. Q. जनतन्त्र के लिए लाभकारी हो सकते हैं

15. Q. उन्नत राष्ट्र के लिए विकास का प्रथम सोपान है

16. Q. अप्रगतिशील रूप में मजाक उड़ाया जाता है ,जो

17. Q. भारतीयता के प्रति हीन भावना का कारण है

18. सही कृति-क्रम को पहचानिए

19. ‘सिर फिर जाना’ का अभिप्राय है

20. छंद का समानार्थी शब्द है

21. उपर्युक्त गद्यांश का सही शीर्षक है ?

22. ‘मैंने यह कुर्सी सौ रुपए की खरीदी है’ इस वाक्य में दोष है

23. ‘मनोरथ’ शब्द का सही संधि-विच्छेद क्या होगा ?

24. प्रत्युपकार का सही सन्धि-विच्छेद है

25. निर्देश : पद्यांश में प्रस्तुत रस का चयन कीजिए। “कौन हो तुम वसंत के दूत, विरस पतझड़ में अति सुकुमार; घन तिमिर में चपला की रेखा, तपन में शीतल मंद बयार।

26. कवी बिहारी मुख्यतः किस रस के कवी हैं ?

27. कालांकित शब्द के लिए उपयुक्त विलोम शब्द का चयन करके रिक्त स्थान की पूर्ति कीजिए सम्पन्न व्यक्ति ……… की व्यथा नहीं जान सकता।

28. निर्देश : दिए गए वाक्यों में कुछ त्रुटि है म उसे छाँटिए। यदि कोई त्रुटि न हो तो उत्तरा (d) या (e) दीजिए।

निर्देश : निम्नलिखित प्रश्नों में प्रत्येक में किसी एक सर्वाधिक उपर्युक्त युग्म को चुन, जो कि दिए गए शब्द का पर्यायवाची हो।
29. तृण

30. सही वर्तनी चुनिए।

31. चमड़ी जाए पर दमड़ी न जाए का अर्थ है

32. रचनाकार काल-क्रम में सही का निर्देश कीजिए।

33. निम्नलिखित में से वाक्य के शुद्ध रूप का चयन कीजिए।

34. सत् + चरित्र = सच्चरित्र किस सन्धि का उदहारण है?

35. ‘पृथ्वीराज रासों’ किस काल की रचना है ?

36. निम्न में से एक तत्सम को छाँटकर बताइए

37. मैला आँचल उपन्यास के लेखक कौन हैं?

38. ‘तामसिक’ शब्द का विपरीतार्थक होगा –

39. ‘को नहीं जानत है जग में कपि संकट मोचन नाम तिहारो।’ यह किस छंद में है ?

40. संज्ञा के कितने भेद होते है ?

41. निम्नलिखित प्रश्नों में प्रत्येक में किसी एक सर्वाधिक उपर्युक्त युग्म को चुन, जो कि दिए गए शब्द का पर्यायवाची हो। अंतरिक्ष

42. निर्देश : नीचे दिए गए प्रश्न में कुछ त्रुटियां और कुछ ठीक हैं त्रुटि वाले वाक्य के जिस भाग में त्रुटि हो, उसके अनुरूप उत्तर अक्षरांक (a), (b), (c) का चयन कीजिए। यदि वाक्य में कोई त्रुटि नहीं हे तो उत्तर (d) चुनिए। आजकल भारत के कारखानों से (a)/ एक से एक बढ़कर श्रेष्ठतम बस्तुएँ (b)/ निरर्थक प्रामाणिक होगा। (c)/ कोई त्रुटि नहीं है (d)

43. प्रिय पति वह मेरा प्राण प्यारा कहाँ है? दुःख जलनिधि – डूबी का सहारा कहाँ है? इन पँक्तियों में कौन-सा स्थायी भाव है?

44. (अ) रेखाचित्र और संस्मरण के बीच की विभाजक रेखा बहुत सूक्ष्म है ? (ब) इनमें से ये दोनों परस्पर अन्तर्भुत्त हो जाता है।

45. ‘मिताक्षरा’ किसकी रचना है?

46. भरतमुनि के रस सूत्र में निम्नलिखित में से किसका उल्लेख नहीं है?

47. रति का पर्यायवाची है

48. निर्देश : दिए गए वाक्य के लिए सही विकल्प का चयन कीजिए। ‘मोहन को हिन्दी पढ़ती है, इसलिए वह शास्त्री जी के यहाँ गया है।”

49. निर्देश : दिए गए वाक्य के लिए सही विकल्प का चयन कीजिए। “सत्य बोलो परन्तु कटु सत्य न बोलो।” किस प्रकार का वाक्य है ?

50. निर्देश : उस सही विकल्प को चुनिए जो दिए हुए शब्द समूह के लिए प्रयुक्त किया जा सकता है ? जो कुछ जानने की इच्छा रखता हो

51. जिजीविषा’ का अर्थ क्या है?

52. ‘खोदा पहाड़ निकली चुहिया’ का अर्थ है

53. हिंदी खड़ी बोली के जन्मदाता हैं?

54. ‘अब अलि रही गुलाब में, अपत कटीली डार’ में कौन-सा अलंकार है?

55. हिन्दी वर्णमाला में व्यंजनों की संख्या है

56. निर्देश : सही विलोम शब्द चुनिए। अनादर

57. निर्देश : निम्नलिखित विकल्पों में से उस शब्द का चयन कीजिए, जो अनेकार्थक नहीं है। ‘ऐल’

58. निर्देश : रेखांकित वाक्यांश के लिए एक शब्द का चयन कीजिए। ईश्वर का कोई आकार नहीं होता है

59. भूषण का प्रिय काव्य रस था ?

60. कोयले की दलाली में मुँह काला का अर्थ है

61. निर्देश : वाक्य के अशुद्ध भाग का चयन कीजिए। दीपावली पर कुछ लोग (a)/ चमचमाती चाँदी के बर्तन (b)/ खरीदने का लोभ संवरण न कर सके। (c)/ कोई त्रुटि नहीं (d)

62. दिल्ली का दलाल’ के रचियता है –

63. निर्देश : रेखांकित वाक्यांश के लिए एक शब्द का चयन कीजिए। आँखों के सामने घटित घटना पर विश्वास तो करना ही पड़ेगा।

64. हाथी……………है.

65. संविधान के किस अनुच्छेद में देवनागरी लिपि में लिखित हिन्दी को संघ की राजभाषा घोषित किया गया है ?

66. देश की हानि ‘जयचन्द्रों’ से होती है रेखांकित में संज्ञा है –

67. ‘अंगुली’ का तद्भव रूप है

68. निम्नलिखित व्यंजनों में से कौन-सा व्यंजन ‘ऊष्मा’ व्यंजन है ?

69. निर्देश : अशुद्ध वर्तनी को चुनिए।

70. विकारी शब्द होते हैं

71. भाषा अभिव्यक्ति के कौन-कौन से रूप हैं ?

72. ‘आनन्द मठ’ के रचयिता कौन हैं?

73. उपसर्ग का प्रयोग है

74. दिए गए वाक्यांश के लिए एक शब्द का प्रयोग कीजिए – ‘दुसरे स्थान पर अस्थायी रूप में रहने वाला’

75. निम्नलिखित में से कौन-सा शब्द वृद्धि सन्धि का उदाहरण नहीं है?

76. निर्देश : वाक्य के अशुद्ध भाग का चयन कीजिए। आतंकवाद शायद एक दिशाहीन (a)/ उद्देश्यहीन अंधेरा है (b)/ जो विश्व शांति एवं प्रगति को निगल रहा है। (c)/ कोई त्रुटि नहीं (d).

77. ‘मगही’ शब्द है

78. ‘आँख’ शब्द का तत्सम रूप है

79. उत्तर प्रदेश का स्थापना दिवस-

80. निर्देश : दिए गए मुहावरे या लोकोक्ति का सही अर्थ चुनिए। धूप में बाल सफ़ेद न करना

81. विश्वामित्र का संधि विच्छेद है ?

82. जिस शब्द के कई सार्थक खण्ड हो सकें, उन्हें क्या कहते हैं?

83. ‘न’ अक्षर का उच्चारण स्थान कहाँ है ?

84. निर्देश : दिए गए वाक्य/वाक्यांश के लिए एक शब्द बताइए। “जंगल में लगी आग” को कहते हैं

85. ‘क्षुधा’ शब्द का विलोम है

86. कौन-सा वाक्य शुद्ध है?

87. किलक अरे मैं नेह निहारूँ। इन दाँतों पर मोती वारूँ।। इन पंक्तियों में कौन-सा रस है?

88. निर्देश – निम्नलिखित वाक्य में उनके प्रथम तथा अंतिम अंश संख्या 1 से और 6 के अन्तर्गत दिए गए हैं। बीच वाले चार अंश (य), (र), (ल), (व) के अन्तर्गत बिना क्रम के हैं। चारों अंशों को उचित क्रमानुसार व्यवस्थित कर सही विकल्प चुनिए। 1. भारतीय गाँवों के (य) अभी भारत सरकार को (र) सुधार के लिए (ल) और राज्य सरकारों को (व) बहुत प्रयत्न 6. करना होगा।

89. ‘छछून्दर के सिर में चमेली का तेल’ का अर्थ है

90. निम्नलिखित में से किस कवि ने अधिकांश कविताएँ ब्रजभाषा में लिखी हैं ?

91. अँधेरी नगरी’ नाटक किसने लिखा ?

92. नीचे दिया गया प्रत्येक वाक्य चार भागों में बांटा गया है जिन्हें (1), (2), (3), (4) क्रमांक दिए गए हैं। आपको यह देखना है कि वाक्य के किसी भाग में व्याकरण, भाषा, वर्तनी शब्दों के गलत प्रयोग या इसी तरह की कोई त्रुटि तो नहीं है। त्रुटि अगर होगी तो वाक्य के किसी एक भाग में ही होगी, उस भाग का क्रमांक ही उत्तर है। सोहन तुम्हारी आय (1)/ का मुख्य (2)/ स्रोत क्या है(3)/ त्रुटि रहित (4)

93. मृगेन्द्र का पर्यायवाची शब्द है

94. ”आषाढ़ का एक दिन’ के लेखक हैं ?

95. युक्ति’ का तद्भव शब्द चयन करो

96. भगवद्गीता का सन्धि-विच्छेद क्या होगा ?

97. निम्न में कौन-सी सन्धि-विच्छेद सही है ?

98. ‘अनायास’ शब्द का अर्थ है ?

99. ‘पत्थर की लकीर’ होने का अर्थ है

100. जिस छन्द के प्रत्येक चरण में 16-16 मात्राएँ और अंत में गुरु होता है। वह कहलाता है –

101. वीर रस स्थायी भाव कौन-सा है ?

इस पोस्ट में आपको हरियाणा क्लर्क की परीक्षा में पूछे गए प्रश्न उत्तर हरियाणा क्लर्क के हिंदी प्रश्न उत्तर Haryana hssc Clerk papers hssc clerk sample paper pdf download Download HSSC Clerk Question Paper से संबंधित फ्री ऑनलाइन टेस्ट दिया गया है. यहां पर दिए गए महत्वपूर्ण Questions पहले परीक्षाओं में पूछे जा चुके हैं और आगे आने वाली परीक्षाओं में भी इनमें से काफी प्रश्न पूछे जा सकते हैं. तो इन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें. अगर इनके बारे में आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके पूछो और अगर आपको यह टेस्ट फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें.

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.